कांग्रेस ने शहीद जवानों के प्रति व्यक्त की संवेदना

रांची। कांग्रेस ने रांची के दशम फॉल में शहीद हुए जवानों के शहादत पर संवेदना प्रकट की है। प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि नक्सलियों को घर में घूसकर मारने की मुख्यमंत्री की चुनौती को स्वीकार करते हुए उग्रवादियों ने राजधानी में घुसकर हमारे पुलिस के दो जवानों की हत्या कर दी। नक्सलियों ने बड़बोले मुख्यमंत्री के मुंह पर कालिख पोतने का काम किया है। मुख्यमंत्री के बिना सोचे समझे बयानबाजी के कारण राजधानी रांची के दशम फॉल में जवान अखिलेश राम तथा खंजन कुमार महतो को जान गंवानी पड़ी। दूबे शुक्रवार को पार्टी कार्यालय में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान और उसके बाद भी नक्सली हमले बढ़ते रहे हैं, हमारे जवानों ने मुठभेड़ से कभी पीछे नहीं हटे हैं और ना ही कभी उन्होंने पीठ दिखाई, लेकिन सरकार की गलत नीतियों के वजह से हमारे जवानों को जान गवानी पड़ रही है। रघुवर सरकार नक्सली हमलों को रोक पाने में पूरी तरह से विफल है, जिसका खामियाजा राज्य की जनता एवं जवानों को उठाना पड़ता है।

मुख्यमंत्री का अल्टीमेटम उल्टा ही पड़ गया। उनके अनर्गल बयानबाजी से हमारे पुलिस मुसीबत में आ जाते हैं। कांग्रेस ने मुख्यमंत्री को नसीहत देते हुए निवेदन किया है कि कम से कम सुरक्षा को लेकर एवं राज्य की सीमाओं के संदर्भ में खामोश रहें और नेतागिरी से बाज आये। सुरक्षा अधिकारियों को अपना काम करने दें।

Leave a Comment