पाकिस्तान में हिन्दू छात्रा की संदिग्ध माैत की न्यायिक जांच शुरू

इस्लामाबाद। हाईकोर्ट के आदेश के बाद अधिकारियों ने सिंध प्रांत में हुई मेडिकल छात्रा की संदिग्ध मौत की जांच शुरू कर दी गई है। यह जानकारी गुरुवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

समाचार पत्र डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक बेनजीर मेडिकल कॉलेज और विश्वविद्यालय के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज की अंतिम वर्ष की छात्रा नम्रता चंदानी की मौत की जांच के सिलसिले में न्यायिक आयोग ने उसके कुछ सहपाठियों, हॉस्टल के वार्डन, विश्वविद्यालय के कुछ और कर्मचारियों को तलब किया है। साथ ही नम्रता के पिता और भाई डॉक्टर विशाल को भी पेश होने के लिए नोटिस भेजा गया है।

विदित हो कि यह न्यायिक जांच सिंध सरकार के आग्रह पर सिंध हाईकोर्ट के आदेश के बाद हो रही है। नम्रता का शव 16 सितम्बर को उसके छात्रावास के कमरे में मिला था। विश्वविद्यालय प्रशासन ने शुरुआत में कहा कि मामला आत्महत्या का लग रहा है।

प्रारंभिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी यही संकेत दिया गया, लेकिन नम्रता के भाई डॉक्टर विशाल ने कहा कि एक चिकित्सक के हैसियत से भी वह यह कह सकते हैं कि मामला आत्महत्या नहीं, बल्कि हत्या का है।

पुलिस ने इस मामले में नम्रता के दो सहपाठियों को हिरासत में लिया हुआ है। इनमें से एक महरान अबरो की नम्रता से विशेष घनिष्ठता थी। जांच एजेंसियों का कहना है कि पूछताछ में महरान ने बताया कि नम्रता उससे शादी करना चाहती थी, लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं था। इस वजह से नम्रता बीते कुछ दिनों में काफी परेशान भी रहने लगी थी।

Leave a Comment