बेटी ने कराई पिता की हत्या, बस एक सुराग से खुल गया राज, जाने इसके पीछे की वजह?

0 844

यूपी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में चार दिन पहले हुई हत्या की वारदात का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. पुलिस ने हत्या की मुख्य साजिशकर्ता के तौर पर बेटी को गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही हत्या को अंजाम देने वाले प्रेमी और उसके साथी को भी असलहों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है.

 

वाराणसी ग्रामीण के एसपी अमित वर्मा ने बताया कि वाराणसी के मिर्जामुराद थाने के तमाचाबाद के रहने वाले किराना व्यापारी राजेश जायसवाल जो 29 जुलाई की शाम लगभग साढ़े 7 बजे अपनी बीमार सास को अस्पताल में खाना देने जा रहे थे, तभी सुनसान सड़क पर गोली मारकर उनकी हत्या कर दी गई गई.

गिरफ्तार आरोपी

 

एसपी अमित वर्मा ने बताया कि पहले घर वालों ने जमीनी विवाद की शंका जाहिर की, लेकिन पुलिस को घटना वाली रात का एक क्लू मिला. इस क्लू के जरिए पुलिस को वारदात में मृतक राजेश जायसवाल की छोटी बेटी का हाथ होने का शक हुआ, जिसका प्रेम संबंध उसी गांव के रहने वाले जावेद अहमद से था.

बरामद असलहा

 

एसपी अमित वर्मा ने बताया कि दोनों शादी करना चाहते थे, लेकिन राजेश जायसवाल ने मना कर दिया था, लड़की पर सख्ती भी की गई थी, जिससे आजिज आकर बेटी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पिता की हत्या की प्लानिंग कर दी, चार दिनों पहले जब राजेश जायसवाल अपने घर से सास को खाना पहुंचाने अस्पताल निकले थे, तभी बेटी ने मुखबिरी कर दी.

 

वाराणसी पुलिस के मुताबिक, पिता की हत्या करवाने के मकसद से बेटी ने अपने प्रेमी जावेद को सूचना दी थी, जिसपर प्रेमी जावेद और उसका दोस्त आकिब अंसारी ने राजेश जायसवाल का पीछा करते हुए मोहनसराय राष्ट्रीय राजमार्ग पर पहुंचकर घटना को अंजाम दिया.

वाराणसी पुलिस के मुताबिक, घटना करने के बाद जावेद अपने गांव में ही जाकर घर में आराम से रहने लगा और हत्या में इस्तेमाल पिस्टल को भी छिपा दिया. पुलिस ने परत दर परत जांच के दौरान हकीकत को खोलना शुरु किया. पूछताछ में भी पकड़े गए सभी आरोपियों ने अपना जुर्म कबूला.

 

मामले का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को 5 हजार रुपए का इनाम दिया गया है. पुलिस ने प्रेमिका, प्रेमी और उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया है और हत्या में इस्तेमाल होने वाली बाइक और हथियार को भी बरामद कर लिया है.