देश के सभी जिलों में 75 अमृत सरोवर निर्माण योजना पर काम शुरू : गिरिराज सिंह

0 160

बेगूसराय। केंद्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री-सह-स्थानीय सांसद गिरिराज सिंह की अध्यक्षता में शनिवार को कारगिल विजय भवन बेगूसराय में जिला विकास समन्वय एवं अनुश्रवण समिति (दिशा) की बैठक आयोजित की गई। बैठक में डीएम अरविंद कुमार वर्मा, डीडीसी सुशांत कुमार, अपर समाहर्ता सुरेन्द्र प्रसाद, विधान पार्षद सर्वेश कुमार, तेघड़ा विधायक राम रतन सिंह, बछवाड़ा विधायक सुरेन्द्र मेहता एवं बखरी विधायक सूर्यकांत पासवान सहित सभी संबंधित पदाधिकारी मौजूद थे।

बैठक में केंद्र प्रायोजित कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा संचालित विभिन्न कल्याणकारी अथवा अवसंरचनात्मक विकास से जुड़ी सभी योजनाएं अति महत्वपूर्ण एवं जनोपयोगी है। इसलिए इसके क्रियान्वयन में गुणवत्ता, पारदर्शिता के साथ-साथ निर्धारित अवधि के अधीन पूर्ण किया जाना आवश्यक है। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से भी अपील करते हुए कहा कि सरकार के निर्णयों, योजनाओं, कार्यक्रमों आदि के बेहतर क्रियान्वयन में अपना योगदान दें। अपने क्षेत्र में क्रियान्वित होने वाली योजनाओं का अनुश्रवण करें, ताकि केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का त्रुटिरहित तरीके से क्रियान्वयन हो सके।

गिरिराज सिंह ने कहा कि भारत सरकार द्वारा देश के सभी जिलों में 75 अमृत सरोवर के निर्माण की कार्ययोजना पर कार्य रही है तथा यह कार्य जलशक्ति योजना, मनरेगा, पशुपालन विभाग एवं पंचायती राज विभाग के माध्यम से क्रियान्वित किए जाएंगे। अमृत सरोवर निर्माण योजना के संदर्भ में जिला स्तर पर अभी से ही कार्ययोजना तैयार करने की जरूरत है। नल-जल योजना की समीक्षा के दौरान उन्होंने पीएचईडी विभाग के कार्यपालक अभियंता को अब तक कवर किए गए वार्डों के संबंध में पृच्छा की तथा नल जल योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन सुनिश्चित किए जाने के लिए प्रखंडवार बीडीओ की अध्यक्षता में पंचायत स्तरीय जनप्रतिनिधियों से साथ बैठक करने का निर्देश दिया।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की समीक्षा में विधायक, विधान पार्षद एवं प्रखंड प्रमुखों से प्राप्त फीडबैक पर नाराजगी जाहिर करते हुए गिरिराज सिंह ने ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता को सड़क निर्माण के दौरान गुणवत्तापूर्ण एवं पारदर्शितापूर्ण कार्य करते हुए लंबित कार्यों को अविलंब पूरा करने का निर्देश दिया। इस दौरान उन्होंने डीएम से महत्वपूर्ण सड़कों की जांच कराने का भी अनुरोध किया, ताकि वस्तुस्थिति की जानकारी प्राप्त हो सके। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के प्रतिनिधि द्वारा निर्माणाधीन परियोजनाओं के संबंध में जानकारी दी गई। जिसपर गिरिराज सिंह ने एनएच-31 के चिन्हित क्षेत्र में आयुष पौधों अथवा पीपल, नीम, बरगद आदि पौधारोपण का निर्देश दिया। उन्होंने मनरेगा के ”उन्नति” कार्यक्रम का क्रियान्वयन कर श्रमिकों को सस्टनेबल बनाने, जिले में जैविक उर्वरकों के व्यापक प्रयोग को सुनिश्चित करने के लिए जैविक खेती के लिए पंचायत स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन करने के साथ-साथ इच्छुक किसानों को प्रशिक्षण देने आदि के संबंध में भी निर्देश दिया।

बैठक में गिरिराज सिंह ने शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, स्वच्छ भारत मिशन, नल-जल योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, विद्युत विभाग, मनरेगा, जीविका, सामाजिक सुरक्षा, कृषि विभाग, स्वास्थ्य विभाग, पंचायती राज विभाग एवं बुडको से संबंधित योजनाओं की समीक्षा की तथा सभी संबंधित पदाधिकारियों को योजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाने का निर्देश दिया।