विरासत को नुकसान पहुंचाने वालों पर कराएं कानूनी कार्रवाई: मुख्यमंत्री

0 268
IPRD_728x90 (II)

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जन सहयोग और सरकार के स्तर पर विकास के कायर्क्रमों को आगे बढ़ाया जा सकता है लेकिन उसके संरक्षण का दायित्व आमजन को स्वयं उठाना पडे़गा। हमारी विरासत को, इसके सुंदरीकरण को यदि कोई नुकसान पहुंचाता है, यहां गंदगी फैलाता है, उसे समझाएं। इसके बाद भी वह उद्दंडता करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई कराने में भी नागरिकों को संकोच नही करना चाहिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पावन सावन माह के पहले दिन यहां गुरुवार को पौराणिक व ऐतिहासिक महत्व वाले प्राचीन मानसरोवर शिव मंदिर और मंदिर के पास स्थित रामलीला मैदान के पर्यटन विकास कार्यों का लोकार्पण करने के बाद संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मानसरोवर मंदिर का विकास जन भावनाओं के अनुरूप कराया गया है। बेहतरीन पयर्टन सुविधाओं का विकास होने के साथ ही यहां पर सुंदरीकरण के सभी कार्य पूरे हो चुके हैं।

पूजा के नाम नया स्ट्रक्चर न खड़ा करें, गंदगी न फैलाएं

योगी ने कहा कि मानसरोवर मंदिर के तालाब को आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में अमृत सरोवर के रूप में भी इसकी पहचान दिला सकते हैं। यहां पर ढेर सारी सुविधाएं यहां से जुड़े हुए लोगों को प्राप्त होंगी। पर,पूजा करते समय इस बात का ध्यान रखें कि पूजा के नाम पर हम लोंग कोई नया स्ट्रक्चर न खड़ा करें। गंदगी न फैलाएं। कहा कि गोरखपुर में पयर्टन विकास की सुविधाओं को लेकर अनेक कायर्क्रम किए जा रहे हैं। इस अवसर पर सांसद रविकिशन शुक्ल, विधायक विपिन सिंह, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह समेत अन्य नेता प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। वहीं इस दौरान पर्यटन विकास कार्यों के लोकार्पण के पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधि विधान से मानसरोवर मंदिर में भगवान भोलेनाथ का रुद्राभिषेक कर लोक मंगल की कामना की।

6.01 करोड़ रुपये से संवरा मानसरोवर मंदिर स्थल

मानसरोवर शिव मंदिर स्थल को सजाने-संवारने में 6.01 करोड रुपये खर्च किए गए हैं। मंदिर परिसर में मल्टीपरपज हॉल, प्रसाधन, 50 लोगों की क्षमता का रैन बसेरा, दो टूरिस्ट शेल्टर, परिसर स्थित सरोवर पर रेड स्टोन रेलिंग, हवन कुंड, रेड स्टोन पाथवे, उद्यान, महिला-पुरुष व दिव्यांगजन के लिए टॉयलेट ब्लॉक, पार्किंग, बाउंड्री वाल का निर्माण, लैंडस्कैपिंग, प्रवेश द्वार, पार्किंग के निर्माण के साथ ही सोलर पैनल तथा विक्टोरिया व गार्डन लाइट लगाए गए हैं।

मानसरोवर शिव मंदिर के पास स्थित रामलीला मैदान का जीर्णोद्धार तथा सुंदरीकरण 1. 64 करोड़ रुपये की लागत से कराया गया है। रामलीला के लिए मंच,ग्रीन रूम, बाउंड्रीवाल, टॉयलेट ब्लॉक, उद्यान, दो प्रवेश द्वार बनाने के साथ ही लैंडस्कैपिंग भी कराई गई है। रामलीला मैदान में स्थित डॉ बीआर अंबेडकर की प्रतिमा स्थल का सुंदरीकरण भी कराया गया है।

IPRD_728x90 (I)