एक ही परिवार के तीन लोग कुएं में गिरे, एक की मौत, देखने आए दामाद ने भी गंवाई जान

0 170

बांदा। खेत में घुसे जानवरों को भगाने के लिए एक महिला दौड़ी और अचानक कुएं में गिर गई। इसे बचाने के लिए इनका बेटा और देवर भी कुएं में गिर गए। बाद में तीनों को किसी तरह से बाहर निकाला गया, लेकिन इस घटना में 36 वर्षीय रंजन देवी की मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर इन्हें देखने आए दामाद की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। सास दामाद की एक साथ मौत हो जाने पर घर में कोहराम मच गया है।

घटना कमासिन थाना क्षेत्र के बीरा गांव में सोमवार को तड़के हुई। बताया जाता है कि बीरा गांव में एक ही परिवार के लोग मवेशियों से फसल बचाने के लिए खेत की रखवाली कर रहे थे। इसी दौरान कुछ जानवर खेत में घुस गए, जिन्हें हांकने के लिए रज्जन देवी (36) पत्नी कल्लू निषाद दौड़ी और कुएं में गिर गई। उसे बचाने के लिए उनका पुत्र लवकुश (20) भी कुएं में उतारने लगा और गिर गया। तब तक वहां महिला का देवर 35 वर्षीय हरिश्चंद्र भी आ गया और रस्सी डालकर दोनों को कुएं से निकालने लगा। मां बेटे रस्सी को पकड़कर ऊपर आ रहे थे। तभी रस्सी टूट गई और मां बेटे फिर से कुएं में गिर गए। तब तक शोर-शराबा सुनकर गांव के लोग वहां पहुंच गए और किसी तरह तीनों को कुएं से बाहर निकाला और इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए। जहां डॉक्टरों द्वारा रज्जन देवी को मृत घोषित कर दिया। जबकि बेटे और देवर का इलाज चल रहा है।

इस बीच घटना की जानकारी मिलने पर सोमवार को उनका दामाद मंगल (26) पुत्र राम चंद्र निवासी असोथर फतेहपुर भी अपनी पत्नी को लेकर सास को देखने आया और पत्नी को छोड़कर बाइक से वापस जा रहा था। तभी कमासिन थाना क्षेत्र में ही किसी वाहन ने टक्कर मार दी। जिससे उसकी घटनास्थल पर मौत हो गई। एक ही दिन में सास और दामाद की मौत हो जाने से घर में कोहराम मच गया। सभी का रो रो कर बेहाल है। पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पंचनामा कराकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।