CM की सत्ता पर कमजोर हो रही पकड़, कोर्ट की सख्ती से हुआ मंत्री का इस्तीफा: तारकिशोर प्रसाद

0 108
IPRD_728x90 (II)

पटना: पूर्व डिप्टी सीएम और भाजपा विधायक तारकिशोर प्रसाद ने CM नीतीश पर तंज कसते हुए कहा कि मुख्यमंत्री की सत्ता पर पकड़ कमजोर होती जा रही है। भ्रष्टाचार और अवांछित तत्वों के विरुद्ध निर्णय लेने में हो रही देरी इस बात के सबूत हैं।

महागठबंधन की सरकार में राज्य के गन्ना मंत्री कार्तिकेय कुमार के इस्तीफा पर प्रतिक्रिया देते हुए तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि महागठबंधन की सरकार में मुख्यमंत्री के नए गठबंधन के साथियों के दबाव में हैं, जो स्पष्ट दिख रहा है।

31 अगस्त को पहले आरोपित मंत्री का विभाग बदला गया

उन्होंने कहा कि सरकार गठन और मंत्रिमंडल विस्तार के लगभग 15 दिन के बाद कोर्ट की सख्ती के मद्देनजर 31 अगस्त को पहले आरोपित मंत्री का विभाग बदला गया और फिर इस्तीफा लिया गया।

यदि कोर्ट की सख्ती नहीं होती, तो ऐसे मंत्री सरकार में अभी भी बने होते। वर्तमान मंत्रिमंडल में इसके अलावा भी अन्य कई मंत्रियों पर मुकदमे चल रहे हैं।

तीन लाख रुपये के जाली नोटों के साथ STF के हत्थे चढ़े तस्कर (swadeshtoday.com)

तारकिशोर ने कहा कि भाजपा के साथ शासन और सत्ता में रहने के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ऐसे फैसले लेने में कभी देर नहीं हुई। उनके ही पार्टी के तत्कालीन मंत्री मेवालाल चौधरी का मामला संज्ञान में आते ही इस्तीफा लिया गया था।

मुख्यमंत्री के जीरो टॉलरेंस की हवा निकल गई है

उसके पूर्व भी अन्य मंत्रियों का नाम किसी मामले में आने पर तत्काल इस्तीफा लिया गया। उन्होंने कहा कि BJP ने शुरू से ही भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कभी समझौता नहीं किया है और गठबंधन में रहते हुए भी इसका पूर्ण समर्थन किया है, परंतु इस बार महागठबंधन के साथ सरकार बनाकर CM के जीरो टॉलरेंस की हवा निकल गई है और राज्य सुशासन के मार्ग से भटक गया है।

IPRD_728x90 (I)