प्रसिद्ध कथावाचक देवकीनंदन को मिली फोन पर जान से मारने की धमकी, सीमा विवाद में फंसा मामला

0 235

मथुरा। वृंदावन के भागवत कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर को दुबई के नंबर से फोन पर जान से मारने की धमकी मिली है। उनके ट्रस्ट के मोबाइल नंबर पर आई कॉल पर एक व्यक्ति ने अपशब्द कहे। उन्हें जान से मारने की धमकी दी। देवकी नंदन ठाकुर के भाई और ट्रस्ट के सचिव विजय शर्मा ने बुधवार इस मामले में थाना जैंत में तहरीर दी है। देवकीनंदन ठाकुर इस समय महाराष्ट्र के अमरावती में है इसलिए थाना प्रभारी ने अपराध महाराष्ट्र का बताया है।

बुधवार को ठाकुर देवकीनंदन ठाकुर की संस्था विश्व शांति सेवा चैरिटेबल ट्रस्ट के सचिव विजय शर्मा ने थाना जैंत में दिए गए शिकायती पत्र में कहा है कि 18 अप्रैल को दोपहर 12 बजे संस्था के मोबाइल नंबर पर एक अनजान फोन आया। फोन करने वाले ने देवकीनंदन ठाकुर के लिए गाली गलौज की और जान से मारने की धमकी दी। नाम पूछने पर धमकी देने वाले ने अपना नाम दिनेश बताया और दुबई से काल करने की बात कही। उन्होंने कहा कि 16 अप्रैल को महाराष्ट्र के वाशिम में देवकीनंदन ठाकुर ने हनुमान जन्मोत्सव पर शोभायात्रा निकाली थी। देवकीनंदन ठाकुर ने इस संबंध में एक ट्वीट भी किया है।

ट्रस्ट प्रबंधक गजेंद्र सिंह ने कहा कि पहले भी देवकीनंदन ठाकुर को प्रियाकान्तजू मंदिर, वृंदावन पर धमकी भरे पत्र मिल चुके हैं। जिनमें हिंदुत्व एवं सनातन धर्म का प्रचार करने पर जान से मारने की धमकी मिल चुकी हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान माहौल को देखते हुए धमकी से संस्था सदस्यों एवं शुभचिंतकों में चिंता है।

कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर ने कहा कि हम कभी किसी दूसरे धर्म की निंदा नहीं करते हैं। अंत तक हिंदुत्व और सनातन धर्म का प्रचार करते रहेंगे। चाहें इसके लिए कोई भी कुर्बानी क्यों न देनी पड़े।

इस संबंध में थाना प्रभारी जैंत मनोज कुमार शर्मा ने बताया कि तहरीर मिली है, लेकिन उन्हें जब फोन किया गया, तब वह महाराष्ट्र में थे, इसलिए ये अपराध वहां का बनता है।