बढ़ने वाले हैं गैस के दाम, करीब 10 फीसदी के इजाफे का अनुमान 

0 639

नई दिल्ली। महंगाई की मार से जूझ रहे लोगों की मुश्किलें आगे और बढ़ने वाली हैं. दिल्ली और मुंबई जैसे बड़े शहरों में सीएनजी (CNG) और पाइप वाली रसोई गैस पीएनजी (PNG) के दाम अक्टूबर में 10-11 फीसदी तक बढ़ सकते हैं. इसके पहले एलपीजी सिलेंडर के दाम पिछले महीनों में कई बार बढ़ चुके हैं.

 

जल्द होगी समीक्षा  

गौरतलब है कि सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ONGC) जैसी कंपनियों को नामांकन के आधार पर दिए गए क्षेत्रों के लिए प्राकृतिक गैस की कीमतों की सरकार प्रत्येक छह माह में समीक्षा करती है. अगली समीक्षा 1 अक्टूबर को होनी है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक ICICI सिक्योरिटीज ने कहा कि 1 अक्टूबर, 2021 से 31 मार्च, 2022 तक एपीएम या प्रशासित दर बढ़कर 3.15 डॉलर प्रति यूनिट (एमएमटीटीयू) हो जाएगी. यह अभी 1.79 डॉलर प्रति यूनिट है.

निजी कंपनियों की भी कीमत बढ़ेगी   

इसके अलावा गहरे पानी वाले क्षेत्रों से निकलने वाली गैस मसलन रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) और बीपी पीएलसी (BP Plc) के केजी-डी6 क्षेत्र से गैस की दर 7.4 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू हो जाएगी.

प्राकृतिक गैस एक कच्चा माल है जिसे वाहनों में इस्तेमाल के लिए सीएनजी और रसोई में इस्तेमाल के लिए पीएनजी में बदला जाता है. रिपोर्ट में कहा गया है कि शहरी गैस वितरण कंपनियों को कीमतों में 10-11 फीसदी  की बढ़ोतरी करनी होगी.