CBSE:  10वीं का रिजल्ट घोषित, लड़कियों का शानदार प्रदर्शन

0 2,463
IPRD_728x90 (II)

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शुक्रवार को 10वीं का परिणाम घोषित कर दिया है। इस साल 94.40 प्रतिशत छात्रों ने परीक्षा उत्तीर्ण की है। परीक्षा में लड़कों के मुकाबले लड़कियों ने बेहतर प्रदर्शन किया है।

बोर्ड द्वारा जारी आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार 94.40 प्रतिशत छात्रों ने परीक्षा उत्तीर्ण की है। इस वर्ष दर्ज किए गए कुल उत्तीर्ण प्रतिशत में पिछले वर्ष की तुलना में गिरावट देखी गई है। 2021 में यह आंकड़ा 99.04 प्रतिशत था। परीक्षा के लिए कुल 21,09,208 छात्रों ने पंजीकरण कराया, जिसमें से 20,93,978 छात्र उपस्थित हुए और 19,76,668 छात्र उत्तीर्ण हुए।

लड़कियों ने लड़कों के मुकाबले 1.41 प्रतिशत बेहतर प्रदर्शन किया। इस साल 95.21 प्रतिशत छात्राएं उत्तीर्ण हुईं है जबकि 93.80 प्रतिशत छात्र सफल हुए हैं। ट्रांसजेंडर 90 प्रतिशत पास हुए हैं।

2,36,993 (11.32 प्रतिशत) छात्रों ने 90 प्रतिशत से अधिक अंकों के साथ परीक्षा पास की है। इसी तरह 64,908 (3.10 प्रतिशत) छात्रों ने 95 प्रतिशत से ज्यादा अंक हासिल किए हैं। सीबीएसई की 10वीं कक्षा के परिणाम 2022 में कुल 1,07,689 (5.14 प्रतिशत) छात्रों की कंपार्टमेंट आई है।

पिछले वर्ष के छात्रों के उत्तीर्ण प्रतिशत के अनुसार दिल्ली रीजन ने सीबीएसई 10वीं परिणाम 2022 में छात्रों के प्रदर्शन में बड़ी गिरावट देखी है। 2021 में दिल्ली में कक्षा 12 के छात्रों का कुल उत्तीर्ण प्रतिशत 98.19 प्रतिशत था, जबकि इस साल दिल्ली में यह आंकड़ा 86.55 प्रतिशत ही है। दिल्ली क्षेत्र से इस साल कुल 3,66,831 छात्रों ने सीबीएसई परीक्षा के लिए पंजीकरण कराया, जिसमें से 3,63,526 छात्र परीक्षा में शामिल हुए और 3,14,620 छात्रों ने परीक्षा दी। पूर्वी दिल्ली का 86.96 प्रतिशत और पश्चिमी दिल्ली का पास प्रतिशत 85.94 प्रतिशत है।

सीबीएसई 10वीं की परीक्षाओं के लिए 2022 में शीर्ष प्रदर्शन करने वाला क्षेत्र (रीजन) त्रिवेंद्रम है। दी गई सूची के अनुसार सबसे कम प्रदर्शन करने वाला क्षेत्र गुवाहाटी है। 16 रीजनों में त्रिवेंद्रम 99.68 प्रतिशत के साथ पहले स्थान पर है। इसके बाद बेंगलुरू 99.22 प्रतिशत और चेन्नई 98.97 प्रतिशत के साथ क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं।

इसके बाद अजमेर 98.14 प्रतिशत, पटना 97.65 प्रतिशत, पुणे 97.41 प्रतिशत, भुवनेश्वर 96.46 प्रतिशत, पंचकूला 96.33 प्रतिशत, नोएडा 96.08 प्रतिशत, चंडीगढ़ 95.38 प्रतिशत, प्रयागराज 94.74 प्रतिशत, देहरादून 93.43 प्रतिशत, भोपाल 93.33 प्रतिशत है।

इस सूची में 14वें और 15वें स्थान पर क्रमश: दिल्ली पूर्व 86.96 प्रतिशत और दिल्ली पश्चिम 85.94 प्रतिशत है। इसमें अंतिम 16वें स्थान पर 82.23 प्रतिशत के साथ गुवाहाटी रीजन है।

स्कूल-वार पास प्रतिशत देखें तो जवाहर नवोदय विद्यालय (जेएनवी) के छात्रों ने सीबीएसई कक्षा 10 के परिणामों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। जेएनवी का 99.71 प्रतिशत, स्वतंत्र स्कूलों का 96.86 प्रतिशत, केवी का 96.61 प्रतिशत, सीटीएसए का 91.27 प्रतिशत, सरकारी स्कूलो का 80.68 प्रतिशत और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों का 76.73 प्रतिशत रहा है।

10वीं कक्षा की परीक्षा इस साल 26 अप्रैल से 24 मई तक देशभर में 7,405 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की गई थी। बोर्ड मेरिट सूची नहीं जारी करेगा। जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, बोर्ड ने सीबीएसई टर्म 1 और सीबीएसई टर्म 2 परिणाम 2022 को 30:70 वेटेज दिया है। सीबीएसई 10वीं रिजल्ट 2022 की मार्कशीट डिजिलॉकर पर उपलब्ध है।

IPRD_728x90 (I)