मानव तस्कर पन्नालाल की पत्नी ने एनआईए कोर्ट में किया सरेंडर

0 156

रांची। कुख्यात मानव तस्कर पन्नालाल महतो की पत्नी सुनीता देवी ने एनआईए के विशेष न्यायाधीश एनके वर्मा की अदालत में सोमवार को सरेंडर कर दिया। अदालत में सुनीता देवी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार भेज दिया ।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी( एनआईए )ने मानव तस्कर पन्ना लाल की पत्नी सुनीता देवी के खिलाफ बीते शनिवार को एक लाख का इनाम घोषित किया था। सुनीता देवी जेल में बंद कुख्यात मानव तस्कर पन्ना लाल महतो की पत्नी है। सुनीता देवी खूंटी जिले के मुरहू की रहने वाली है। एनआइए ने कांड संख्या 09/2020 में मोस्ट वांटेड घोषित किया है। झारखंड में मानव तस्कर पन्ना लाल के खिलाफ खूंटी की एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट में छह अगस्त 2018 को प्राथमिकी दर्ज की गई थी। एनआइए ने इसी प्राथमिकी को टेकओवर करते हुए दो मार्च 2020 को मामला दर्ज किया है। इस मामले को लेकर एनआइए ने कांड संख्या 1/2020 दर्ज किया है।

उल्लेखनीय है कि 18 जून 2019 को खूंटी पुलिस ने पन्ना लाल को गिरफ्तार किया था। पन्ना लाल और उसकी पत्नी सुनीता देवी साल 2003 से ही मानव तस्करी कर रहे थे। मानव तस्करी कर पति- पत्नी ने लगभग 100 करोड़ की संपत्ति बनायी है। पति- पत्नी झारखंड और ओड़िशा से बच्चों की तस्करी करते थे। बच्चों को काम दिलाने के नाम पर बाहर ले जाकर बेचा जाता था। इसके लिए सुदूरवर्ती इलाकों के आदिवासी बच्चों और गरीब परिवार को निशाना बनाया जाता था।
वहीं दूसरी ओर पन्ना मानव तस्कर पन्नालाल महतो के खिलाफ ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग का मामला भी दर्ज किया है। मामले में ईडी ने गत 31 दिसंबर को पन्ना लाल और उसके सहयोगियों की 3.36 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति को जब्त की थी। जब्त संपत्ति में अरगोड़ा में पांच प्रमुख भू-खंड, खूंटी में चार प्लाट, विभिन्न बैंकों में पड़े 17.71 लाख रुपये नकद, टोयटा फार्च्यूनर शामिल था।