हादसे में दोनो हाँथ कटे, व्यक्ति ने अंचलाधिकारी से मिलकर मदद की लगाई गुहार

0 614

हजारीबाग। एक हंसता खेलता परिवार किसी हादसे में शिकार होकर किस तरह बिखर जाता है इस जीता जागता उदाहरण है झुमरा निवासी 30 वर्षीय चंदू ठाकुर पिता जगदीश ठाकुर का परिवार कुछ दिनों पहले तक चंदू ठाकुर के घर खुशियां थी लेकिन 30 माई की काली रात को हुए एक हादसे ने उसकी सारी खुशियां छीन ली उस हादसे मैं चंदू के दोनों हाथ कट गए अब अपने परिजनो के लिए लोगों के सामने गिड़गिड़ा रहा है उसे कोई भी मदद नहीं मिल पाई है ,चंदू पेसे से राजमिस्त्री का काम करता था और अपने ससुराल कुमाटोली गोमिया में रहता था। वाह 31 मई 21 को रात्रि 10:30 बजे साइकिल से जा रहा था कि तभी रेलवे क्रॉसिंग के पास गिर गया होश आने के बाद उसने खुद को रिम्स रांची में पाया जहां उसके दोनों हाथ कटे हुए थे उसका दोनों हाथ ट्रेन से कट गया या किसी ने दुश्मनी में ऐसा कर दिया वह ठीक से बता नहीं पा रहा था हादसे के बाद कुछ दिनों तक ससुराल वालों ने साथ दिया पर धीरे-धीरे वह भी कन्नी काटने लगे उसकी पत्नी पूर्णिमा दो छोटी बेटियों को साथ लेकर कुछ दिन पूर्व मायके चली गई चंदू झुमरा स्थित अपने घर में भाइयों के साथ रह रहा है चंदू को कई लोगों ने आश्वासन दिया पर अब तक उसे मदद नहीं मिला।