Breaking: आईईडी ब्लास्ट में महिला की मौत

0 392

लातेहार। लातेहार- लोहरदगा सीमा क्षेत्र स्थित बुलबुल जंगल के निकट नक्सलियों के द्वारा लगाए गए बम की चपेट में आने से सकुंती देवी (40) की मौत हो गई ।मृतक महिला पलामू के पाकी थाना क्षेत्र की रहने वाली थी। वह अपने एक रिश्तेदार के साथ जंगल में महुआ चुनने गई थी। इसी दौरान जंगल में नक्सलियों के द्वारा लगाए गए बम की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई।

बताया जाता है कि सकुंती देवी का मायका लातेहार जिले के छिपादोहर थाना क्षेत्र अंतर्गत गणेशपुर गांव में है। वह लातेहार थाना क्षेत्र स्थित गोताग गांव में अपने एक रिश्तेदार के घर आई थी। अपने रिश्तेदार के साथ महिला लातेहार और लोहरदगा सीमा क्षेत्र पर स्थित बुलबुल जंगल में महुआ चुनने गई थी। इसी दौरान अचानक जंगल में नक्सलियों के द्वारा लगाया गया बम विस्फोट हो गया, जिसकी चपेट में आने से महिला की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।
घटना के बाद स्थानीय ग्रामीणों ने मृत महिला के शव को अपने साथ लेकर गांव आ गए। इधर घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस पूरे मामले की छानबीन आरंभ कर दी है। इस संबंध में पूछने पर लातेहार पुलिस अधीक्षक अंजनी अंजन ने बताया कि घटना की जानकारी मिली है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। उन्होंने कहा कि घटनास्थल लोहरदगा जिले के पेशरार थाना क्षेत्र में है। लोहरदगा पुलिस की मदद से पूरे इलाके में सर्च अभियान चलाया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि गत 12 अप्रैल को भी जंगल में महुआ चुनने गई लातेहार की एक महिला बम विस्फोट में बुरी तरह घायल हो गई थी। वर्तमान में उसका इलाज भी रांची में चल रहा है। बताया जाता है कि उग्रवादियों के द्वारा पुलिस को जाल में फंसाने के लिए जंगल में लैंडमाइंस लगाए गए हैं। इसी लैंडमाइंस की चपेट में ग्रामीण आ जा रहे हैं।