देवघर में रोप-वे का तार टूटा: 50 से अधिक लोग फंसे, 12 घायल

0 464

देवघर : देवघर के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल के रूप में जाना जाने वाला त्रिकुट पहाड़ स्थित रोप-वे के तार में खराबी आने के कारण एक ट्रॉली गिर गई। इसमें 12 लोगों के घायल होने की सूचना है। 50 से अधिक लोगों के फंसे होने की आशंका है। एनडीआरएफ की टीम ने मोर्चा संभाल लिया है। प्रशासन की टीम मौके पर कैंप कर रही है।
करीब डेढ़ वर्ष की मासूम बच्ची के माता-पिता का पता नहीं चल रहा है। लोग खुद को बचाने की गुहार लगा रहे हैं। तार टूटने के बाद असम से आए पति-पत्नी भूपेंद्र वर्मा और दीपिका वर्मा ट्रॉली का दरवाजा तोड़कर नीचे कूद गए। इसमें दोनों घायल हो गए हैं।

हादसे के बारे में भूपेंद्र वर्मा ने बताया कि त्रिकुट पहाड़ पर घूमने के लिए गए थे। अचानक रोपवे बीच में ही अटक गई। डिस्टेंस कम होने का कारण दरवाजा तोड़कर नीचे कूद गए। इसमें पत्नी को माथे में चोट आई। भूपेंद्र वर्मा असम के कोकराजोर के रहने वाले हैं। रोपवे के मैनेजर कन्हैया कापरी ने बताया, 4:00 से 4:30 बजे के लगभग रोपवे पर यात्री सवार थे। रोपवे चल रहा था। अचानक रोपवे का तार ट्रैक से उतर गया है। इसके कारण रोपवे बीच में ही अटक गया।’
रोपवे अभी तक अटका है। कर्मचारी रोपवे को ठीक करने में लगे हुए हैं। यात्रियों को उतारने के लिए हेलीकॉप्टर की व्यवस्था की जा रही है। मौके पर लोगों की भारी भीड़ लगी हुई है। अब तक सभी यात्री सुरक्षित बताए जा रहे हैं।
त्रिकुट पहाड़ पर यात्रियों को सुरक्षित निकालने के लिए एनडीआरएफ की टीम पहुंच चुकी है। यात्रियों को सुरक्षित निकालने का प्रयास किया जा रहा है। देवघर के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री भी मौके पर पहुंचे।
उपायुक्त ने बताया कि मोहनपुर प्रखंड अंतर्गत त्रिकुट पर्वत पर रोपवे सफर के दौरान हादसा हुआ। घटना को लेकर जिला प्रशासन, एनडीआरएफ और स्थानीय ग्रामीणों मदद और बचाव कार्य में जुटे हुए हैं।
वर्तमान में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। बचाव दल के सहयोग से सभी पर्यटकों को सुरक्षित निकाला जा रहा है।